(Last Updated On: 25/04/2018)

Bewajah Nahi Milna Tera Mera…!!

 

बाते सारी कैद आज भी है..!
तुम्हारी सारी यादे कैद आज भी है..!
मिले है तो कोई तो वजह रही ही होगी
दर्मियान फ़ास्ले तुम्हारे मेरे बीच आज भी कायम है..!

बेवजह कोई ज़िन्दगी के खुबसुरत पल किसी के साथ बाटता नहीं है..!
अधुरे-पन में तेरा , मेरे साथ रहना क्यु मुझे सुकून दे जाता है..!
तुमसे प्यार करने और होने के किससे आज भी ताज़ा है..!
दर्मियान फ़ास्ले तुम्हारे मेरे बीच आज भी कायम है..!

तुम कहती हो कि तुमसे बेहतर कोई नहीं है
मेरा साथ तुम्हे अच्छा भी लगता है.!
प्यार करने के लिए ये ही वजह काफ़ि है
पर तेरी ना का ज़ख्म ताज़ा आज भी है
मेरी सर्फ़रोशी का जाय्ज़ा आज भी है
दर्मियान फ़ास्ले तुम्हारे मेरे बीच आज भी कायम है

गिरफ़त मे तो अभी भी है ये दिल
भले ही आज़ाद है.
रोज़ मरना भले ही खत्म हो
पर तुम्हारे लिये मरने कि ललक आज भी
वक़्त का खेल , खेल तुम्हारा, या प्यार महज़ एक खेल है..! जो भी बात रही हो पर
दर्मियान फ़ास्ले तुम्हारे मेरे बीच आज भी कायम है .!

बेवजह नहीं मिलना तेरा मेरा
कोइ तो बात होगी..!
मुक़म्मल नहीं है इश्क़ मेरा
किसी की साजिश ज़रुर होगी..!

Credit:- Daniel Rodricks

1 thought on “Bewajah Nahi Milna Tera Mera”

  1. An impressive share, I just given this onto a colleague who was doing a little analysis on this. And he in fact bought me breakfast because I found it for him.. smile. So let me reword that: Thnx for the treat! But yeah Thnkx for spending the time to discuss this, I feel strongly about it and love reading more on this topic. If possible, as you become expertise, would you mind updating your blog with more details? It is highly helpful for me. Big thumb up for this blog post!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Call Now Button